उल्लू की विष्ठा से वशीकरण करने के 7 सबसे प्रभावशाली तरीके

उल्लू की विष्ठा से वशीकरण किया जा सकता है। यदि आप उल्लू की विष्ठा से वशीकरण करते हैं तो उल्लू को किसी भी तरह का नुकसान ना पहुंचाएं  । सुनने मे आता है कि कुछ तांत्रिक स्वार्थ से वशीभूत होकर उल्लू को मार देते हैं और उसके बाद उसका तांत्रिक प्रयोग करते हैं ,जो बहुत गलत है। यदि आपको वशीकरण ‌‌‌ही करना है तो इसके बहुत सारे तरीके हैं। इसके लिए उल्लू को मारने की कोई आवश्यकता नहीं है।

‌‌‌दोस्तों उल्लू को भारत के अंदर एक मूर्ख जानवर की संज्ञा दी जाती है।लेकिन असल मे यह गलत है वैज्ञानिक रूप से सिद्व हो चुका है कि उल्लू मूर्ख नहीं होता है। और भारत के अंदर उल्लू के शकुन अपशकुन से जोड़कर भी देखा जाता है। ‌‌‌

रात के अंदर उल्लू का आना अच्छा माना जाता है।वहीं दिन के अंदर उल्लू का छत पर आकर बैठना अशुभ माना जाता है। वहीं दिन के अंदर यदि घर के उपर आकर उल्लू रोता है तो यह अशुभ होता है । ऐसा घर  खाली होने का संकेत देता है। ‌‌‌हालांकि यह सब मान्यताएं हैं। इनका कोई भी वैज्ञानिक आधार नहीं है।

उल्लू की विष्ठा का मिलना काफी मुश्किल होता है लेकिन यदि आपको पता है कि उल्लू किस जगह पर रहते हैं तो वहां पर आपको उल्लू की विष्ठा बहुत ही आसानी से मिल जाएगी । आमतौर पर कुछ पेड़े ऐसे होते हैं  या कुछ जगह ऐसी होती हैं जहां पर बहुत सारे उल्लू रहते हैं वहां से आप उल्लू की विष्ठा प्राप्त ‌‌‌कर सकते हैं और उल्लू की विष्ठा प्राप्त करने के बाद आप इसकी मदद से किस प्रकार से वशीकरण करते हैं। आइए इसके बारे मे भी जान लेते हैं।

उल्लू की विष्ठा से वशीकरण

1.उल्लू की विष्ठा से वशीकरण

‌‌‌कौवे और उल्लू की विष्ठा को एक साथ मिलाएं और उसके बाद इसको गुलाब जल के अंदर डालकर अपने माथे पर तिलक लगाकर जिस भी व्यक्ति के सामने आप जाएंगे  वही आपके वश मे हो जाएगा । लेकिन इस टोटके का प्रयोग करते समय इस बात का ध्यान रखना है कि आपको उल्लू और कौवे की विष्ठा से घ्रणा नहीं होनी चाहिए।

‌‌‌2.उल्लू की विष्ठा और पंख से वशीकरण

दोस्तों सबसे पहले किसी भी शनिवार के दिन ऐसे स्थान पर जाएं जहां पर बहुत सारे उल्लू रहते हैं। वहां से एक उल्लू का पंख और थोड़ी सी उल्लू की विष्ठा को उठा लाएं । उसके बाद किसी कौवे का पंख एकत्रित करलें । अब  ‌‌‌किसी भी निर्जन स्थान पर जाएं और उल्लू और कौवे के पंख को एक साथ जलाकर  भस्म बनालें ।ध्यानदें उल्लू की विष्ठा को इसके अंदर नहीं जलाना है।

 ‌‌‌अब उल्लू की विष्ठा को स्त्री के घर के अंदर डाल आएं और अब जब भी आपको उस स्त्री या पुरूष को वश मे करना हो तो उस भस्म को चुपके से उसके सर पर डालदें । वह सदा सदा के लिए आपके वश मे हो जाएगा ।

‌‌‌3.उल्लू की विष्ठा से स्त्री का वशीकरण

आप इस प्रयोग को किसी भी बरसात के दिन कर सकते हैं।आप इसके लिए कोई भी पात्र के अंदर बारिश हो रही हो तो पानी एकत्रित करलें और फिर इस पानी को किसी भी ‌‌‌टूटे मटके के अंदर भरलें । काली गुंजा के 12 बीज इस ‌‌‌टूटे मटके के अंदर डालदें और फिर इस ‌‌‌टूटे मटके को किसी भी ऐसे स्थान पर ले जाएं । जहां पर उल्लू रहते हों। और उल्लू की 7 विष्ठा को इसके नीचे दबादें । ‌‌‌इससे पहले 21 बार उस व्यक्ति का नाम ले जिससे आप अपने वश मे करना चाहते हैं।

 और उसके बाद जैसे जैसे इसमे बेल उगेगी जिसका आपने नाम लिया है वह आपके वश मे होता चला जाएगा । ‌‌‌आपको इस बात का ध्यान रखना है कि मटके के अंदर बेल अवश्य ही उगनी चाहिए । नहीं तो वशीकरण नहीं होगा ।

‌‌‌4.उल्लू की विष्ठा और श्मसान की राख से वशीकरण

उल्लू की विष्ठा और श्मसान की राख से वशीकरण

इस प्रयोग को आपको रात 12 बजे श्मसान घाट के अंदर जाकर करना होगा ।इसके लिए करना यह है कि रात को उल्लू की विष्ठा ,सिंदूर और गुलाब जल लेकर श्मसान घाट के अंदर जाएं और वहीं पर किसी चिता की राख इसमे मिलाकर ‌‌‌एक घोल तैयार करलें । जिससे तिलक लगाया जा सके । अब नीचे दिये गए मंत्र को 108  जप करें ।

 ॐ विव देक्गु कुएज जद्दू सूयवर नाम बोलें  विस्य जविउ स्वः

अब आपका वशीकरण तिलक तैयार है। जिसको भी आपको वश मे करना हो उसके सामने यह तिलक लगाकर जाएं । वह आपके वश मे हो जाएगा ।

5. ‌‌‌कौवे और उल्लू के पंख से वशीकरण

सबसे पहले कहीं से कौवे और उल्लू के पंख को लाएं और चंदन की लकड़ी से इन दोनों पंखों को जलाएं ।जब यह अच्छी तरह से जल जाएं तो इस राख को जिस स्त्री और पुरूष के सर के उपर गुप्त रूप से डाला जाएगा । वही सदा सदा के लिए आपके वश मे हो जाएगा ।

‌‌‌6.उल्लू की विष्ठा और जड़ से शत्रू को वशीभूत करना

‌‌‌गुड़मार एक प्रकार का पौधा होता है ,जो भारत के अंदर ही पाया जाता है।इसकी जड़ को लाएं और उसके साथ ही आपके पास उल्लू की विष्ठा होनी चाहिए । सबसे पहले गूड़मार की जड़ को पवित्र करें और शत्रू के घर के अंदर चुपके से डालदें और उल्लू की विष्ठा को 7 बार अपने से उतारे और शत्रू के घर के अंदर डाल देने ‌‌‌से प्रचंड वशीकरण होता है। यदि उल्लू की विष्ठा नहीं मिल रही है तो गूडमार की जड़ का प्रयोग कर सकते हैं। ‌‌‌यह काम आपको मंगलवार को करना होगा ।

‌‌‌7.तालाब की मिटटी और उल्लू की विष्ठा से वशीकरण

तालाब की मिटटी और उल्लू की विष्ठा से वशीकरण

सबसे पहले आपको उल्लू की विष्ठा लेनी है और उसको व कपूर को लेकर आद्र्रा नक्षण के अंदर किसी तालाब के पास जाएं और कपूर की मदद से उल्लू की विष्ठा को जलादें । अब उसकी राख को अपने पास एकत्रित करें और अपने सर के उपर से 7 बार उतारें और पानी के अंदर ‌‌‌डालदें । अब एक ही डूबकी के अंदर नीचें जाएं और तालाब की मिटटी लें आएं ।अब इसको जिस भी औरत के सर पर डालदेंगे । वही वशीभूत हो जाएगी ।

उल्लू की विष्ठा से वशीकरण करने के तरीकों के बारे मे हमने जाना । आप वशीकरण करने के सरल तरीके का प्रयोग कर सकते हैं। किसी को परेशान ना करें ।

मोर पंख से वशीकरण करने के 14 अलग अलग तरीके आजमाएं

केले से वशीकरण करने के 10 पोपुलर तरीके

वशीकरण सुरमा बनाने के उपयोगी तरीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »