वशीकरण का असर कितने दिन रहता है ? vashikaran effect time

‌‌‌वशीकरण का असर कम से कम 1 मीनट से लेकर काफी सालों तक हो सकता है। हालांकि यह वशीकरण करने वाली विधि पर निर्भर करता है। जैसे कुछ वशीकरण विधियां ऐसी होती हैं।

जिसके अंदर समय को चुनने की आजादी होती है। जैसे एक वशीकरण विधि के अंदर ‌‌‌स्त्री के बालों को किसी पत्थर के नीचे दबा दिया जाता है और तब तक वशीकरण का प्रभाव रहता है । जब तक कि वे बाल पत्थर के नीचे पड़े रहते हैं। ‌‌‌इसके विपरित कुछ विधियां ऐसी होती हैं ,जिनके प्रयोग से लाइफ टाइम वशीकरण हो जाता है।

‌‌‌खैर यह जो बाते हैं उनके बारे मे पूरी तरह से सच नहीं बताया जाता है।वशीकरण लाइफ टाइम तक तभी हो सकता है ,जब इस प्रकार की मनोदशा वाला इंसान मौजूद हो । यदि मनोदशा वाला इंसान मौजूद नहीं है तो वशीकरण कुछ ही समय मे समाप्त हो सकता है। ‌‌‌यदि इंसान बहुत अधिक जागरूक है तो उसका वशीकरण करना सरल नहीं होता है। वह एक या दो दिन बाद खुद ही समाप्त हो जाता है ।

‌‌‌इस संबंध मे मैं आपको एक रियल घटना बताना चाहता हूं । यह घटना है एक महिला की  । उस महिला का नाम किसना था। एक बार जब वह किसी के घर के अंदर गई तो किसी दूसरी महिला ने उसको चाय पिलाई और उस चाय के माध्यम से किसना को वश मे करलिया ।

‌‌‌जैसे ही किसना ने वशीकरण वाली चाय पी उसके मन के अंदर इस प्रकार के विचार पैदा होने लगे जैसे कि वह अपने घर कभी जाए ही नहीं और कहीं और चली जाए । यह उसके मन मे बार बार उठने लगे ।

वशीकरण का असर कितने दिन रहता है

‌‌‌मन मे उठते अजीब विचारों को वह समझ चुकी थी।लेकिन मन की आत का विरोध करते हुए वह वहां से खड़ी हुई और अपने घर आ गई । किसना ने उस समय अपने मन की स्थिति के बारे मे बताते हुए कहा कि उसके मन मे बार बार यही विचार आने लगे कि ‌‌‌वह अपने घर से भाग जाए ।लेकिन उसके दूसरे दिन उन विचारों का प्रभाव कम हो गया और तीसरे दिन वे पूरी तरह से समाप्त हो गए ।

‌‌‌दोस्तों यह बात है किसी ऐसी महिला कि जो अनपढ थी लेकिन उसके अंदर थोड़ा आत्मबल था तो उसने वशीकरण प्रभाव को 3 दिन के अंदर ही नष्ट कर दिया ।

वशीकरण का असर कितने दिन रहता है बिना जागरूक इंसानों पर

दोस्तों दुनिया के अंदर सब प्रकार के इंसान हैं । और वशीकरण का असर बिना जागरूक या जिनका आत्मबल है ही नहीं । उन पर बहुत ही जल्दी से होता है और बहुत ही लंबे समय जैसे 1 साल भर या इससे भी अधिक समय तक बना रह सकता है। ‌‌‌ऐसा होने का कारण यह है कि वे अपने मन को वशीकरण प्रभाव के समान बना लेते हैं। जिसकी वजह से वशीकरण का रियल प्रभाव तो नष्ट हो जाता है लेकिन मन के द्वारा पैदा किया गया प्रभाव काम करता है।

‌‌‌एक महिला है जिसका नाम तो हम नहीं बताना चाहेंगे लेकिन उसने अपने पति को वश मे करलिया था। कुछ समय पहले उसका पति उसकी एक भी बात नहीं मानता था लेकिन अब वह उसकी हर बात मान रहा था।

‌‌‌महिला को अपने पति को वश मे किया हुआ 1 साल से अधिक हो चुका है अब भी उसका पति उसकी बात मानता है। कुल मिलाकर यह मन की प्रव्रति होती है। जब हम किसी इंसान की बात लंबे समय तक मानते हैं तो यह सैट हो जाता है।‌‌‌लेकिन यह हर इंसानों पर लागू नहीं होती है।खास कर पढ़े लिखे इंसानों को अनपढ इंसानों की तुलना मे वश मे करना आसान नहीं होता है।

‌‌‌प्रिय इंसानों का वशीकण प्रभाव अधिक समय तक रहता है

यदि आपकी प्रेमिका या आपकी पत्नी आपको अपने वश मे कर लेती है तो वशीकरण प्रभाव काफी लंबे समय तक रह सकता है। यह कई महिनो तक भी जा सकता है। हालांकि रियल वशीकरण प्रभाव केवल 1 महिने भर का मुश्किल से होता है लेकिन इन रिश्तों के अंदर मानसिक ‌‌‌ विचारधारा ही वशीकरण का काम करती है।

‌‌‌जैसे आप अपनी पत्नी को प्यार करते हो और यदि वहीं आपको अपने वश मे कर लेती है तो आपकी विचार धारा इसी के अनुकूल होती है ऐसी स्थिति के अंदर वशीकरण का प्रभाव  काफी अधिक और लंबे समय तक बना रहता है।

‌‌‌लेकिन यदि यही वशीकरण विधि आप किसी ऐसे इंसान के उपर प्रयोग करें जिसकी मानसिक स्थिति इसके अनुकूल नहीं है तो वह कुछ ही समय के लिए वश मे होगा जैसे 21 दिन या 30 दिन तक ।

‌‌‌इसी तरह की एक घटना का उल्लेख मैं करना चाहूंगा । हमारा एक जानकार है। वह नौकरी करता है उसकी एक ही बेटी है । वह व्यक्ति रेलवे के अंदर नौकरी करता है और मिलने वाले पैसों को शराब के अंदर उड़ा देता है।

  ‌‌‌वह अपनी बैटी को पहले ही पसंद नहीं करता था लेकिन एक दिन उसकी बैटी नें कुछ तंत्र करके उसको चाय के अंदर डालकर पिला दिया । और उसने देख लिया । बस उसके बाद वह और अधिक भड़क गया । तो दोस्तों ‌‌‌एक तरह से वशीकरण की पोल खुल गई ।यदि कोई यह जान लेता है कि उस के उपर वशीकरण किया जा रहा है तो यह काम नहीं करेगा ।

‌‌‌मजबूत आत्मबल

‌‌‌दोस्तों मजबूत आत्मबल वाले इंसानों को वश मे करना बहुत अधिक कठिन होता है। और इस प्रकार के इंसानों पर यदि वशीकरण प्रभाव करता भी है तो कुछ ही समय के लिए कर पाता है। उसके बाद वे इस प्रभाव को ही नष्ट कर देते हैं।‌‌‌इतना ही नहीं वे मन के अंदर हुए बदलाओं को भांप जाते हैं और उनको यह आसानी से पता चल जाता है कि कोई उनके मन को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है।

‌‌‌ऐसी स्थिति के अंदर उनके उपर वशीकरण कारगर सिद्व नहीं होता है। मन की गति तक ही देवताओं की गति होती है। मन से परे यदि आप खुद को आत्मा मे स्थित कर लेते हो तो कोई भी आपको प्रभावित नहीं कर सकता है।

‌‌‌इस तरह की हम आपको एक रियल घटना बताते हैं । दरसअल वशीकरण की मदद से एक व्यक्ति ने एक औरत को अपने वश मे कर लिया ।

और उसके बाद वह औरत अपना घर छोड़कर भाग गई थी। लेकिन हर व्यक्ति पर वशीकरण इतने प्रभावशाली तरीके से काम नहीं करता है। ‌‌‌जब हम लोग देवताओं की मूर्ति को कहीं और स्थापित कर रहे थे तो देवताओं ने मानसिक तरंगों यानि मन मे संदेश भेजा की यह सही नहीं है। कई बार हमने सुना लेकिन नहीं माना । ‌‌‌वशीकरण भी एक मानसिक संदेश होता है ,पर जो आत्मबल से पूर्ण इंसान है उस पर वशीकरण का प्रभाव हमेशा शून्य होता है।

वशीकरण का असर कितने दिन में होता है

‌‌दोस्तों वशीकरण का असर वैसे तो वशीकरण प्रयोग पर निर्भर करता है। यदि आप कोई खतरानाख प्रयेाग कर रहे हैं तो उस प्रयोग के पूर्ण हो जाने के 2 दिन बात ही वशीकरण का असर होने लग जाता है। ‌‌‌

वैसे आपको पास यह पता करने का कोई भी आधार नहीं होता है कि उस व्यक्ति पर वशीकरण का असर हुआ या नहीं ? लेकिन आप उससे मिल सकते हैं और यदि उसके अंदर आपके प्रति व्यवहार मे परिवर्तन आया है तो वशीकरण ने असर करना शूरू कर दिया है। ‌‌‌लेकिन यदि असर नहीं हुआ है तो इसका मतलब आपका वशीकरण फैल हो चुका है कोई दूसरा तरीका आजमाएं ।

‌‌‌वशीकरण का असर नष्ट कर देते हैं ईष्ट

‌‌‌वशीकरण का असर नष्ट कर देते हैं ईष्ट

दोस्तों हर इंसान किसी ना किसी भगवान की पूजा ‌‌‌करता है। यदि उस इंसान के उपर किसी ने वशीकरण कर दिया है और उसे नहीं पता होता है तो ईष्ट उसके प्रभाव को नष्ट कर देते हैं हालांकि इसके समय के बारे मे कुछ कहा नहीं जा सकता है। ‌‌‌वशीकरण करने के लिए जो उर्जा भेजी जाती है उसको ईष्ट रोक भी सकते हैं। हालांकि यह सब सूक्ष्म जगत की क्रियाएं हैं । हम इनको देख नहीं सकते हैं।

वशीकरण का असर कितने दिन रहता है ? लेख पढ़ने के बाद आपको पता चल ही गया होगा कि यह किस तरह से और कब तक असर कर सकता है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »