क्या आपको पता है कि aloo bukhara ko
english mein kya kehte hain ? यदि नहीं पता तो हम आपको बताते हैं कि aloo
bukhara ko english mein  Magnum bonum के नाम से जाना जाता है। आलू
बुखारा का वनस्पतिक नाम प्रूनस डोमेस्टिका होता है। इसके फल को अलूचा के नाम से भी
जाना जाता है।इसका जो फल होता है वह  लीची
के बराबर या कुछ बड़ा होता है और छिलका नरम तथा साधरणत: गाढ़े बैंगनी रंग का होता
है।वैसे भारत के अंदर आलू बुखारा की खेती बहुत कम होती है लेकिन अमेरिका के अंदर
यह सबसे
आम
है।
अलूचा
का उत्पत्तिस्थान दक्षिण-पूर्व यूरोप अथवा पश्चिमी एशिया में काकेशिया तथा
कैस्पियन सागरीय प्रांत है। इसकी एक जाति प्रूनस सैल्सिना की उत्पत्ति चीन से हुई
है। इसका जैम बनता है।

aloo bukhara ko english mein kya kehte hain



आलू बुखारा Magnum bonum एक
गू
ठीदार फल होता है।यह लाल, काले, पीले और कभी-कभी हरे रंग के होते हैं।
इसका जायका खटटा या मीठा होता है।इनका छिलका अधिक खटटा होता है।और इनका गुदा काफी
रसदार होता है।
‌‌‌आलू बुखारा Magnum bonum को यातो सीधे ही खाया जा सकता है या
फिर इसके मुरब्बे भी बनाए जा सकते हैं।इन सबके अलावा इसकी शराब भी बनाई जाती है।
‌‌‌सुखाए
गए आलू बुखारा के अंदर ऐन्टीआक्सडन्ट पदार्थ होते हैं।जो शरीर के अंदर कुछ तरह के
रोगों से सुरक्षा प्रदान करने मे मददगार होते हैं।
‌‌‌आलू बुखारा Magnum
bonum की कई किस्मों का प्रयोग कब्ज के ईलाज के लिए किया जाता है।

‌‌‌यह 
फल भारत के पहाड़ी प्रदेशों के अंदर पैदा होता है।इसके सफल उत्पादन के लिए
ठंडी जलवायु आवश्यक है। देखा गया है कि उत्तरी भारत की पर्वतीय जलवायु में इसकी
उपज अच्छी हो सकती है। मटियार
, दोमट
मिट्टी अधिक यूज फुल रहती है।

aloo bukhara
ko english mein kya kehte hain
‌‌‌आलू बुखारा खाने के फायदे


‌‌‌आलू बुखारा Magnum bonum  के
अंदर स्वाद ही नहीं होता है। वरन इसके अंदर कई सारे औषधिये गुण छिपे होते हैं।यदि
आपको आलू बुखारा खाना पसंद है तो हम आपको बताते हैं कि इसको खाने से क्या क्या
फायदा होता है। आप केवल आलू बुखारा
Magnum bonum  के
अंग्रेजी नाम को बार बार पढ़ें जिसे आपको आसानी से याद रह सके और इसके अलावा आलू
‌‌‌बुखारा के
फायदे भी आपको पता चल सके ।

Magnum bonum  हर्ट के लिए अच्छे होते हैं


Magnum
bonum
  हर्ट के लिए अच्छे होते हैं।‌‌‌एक
रिसर्च से यह पता चला है कि जिन लोगों को हर्ट से संबंधित समस्याएं हैं उनको आलू
बुखारा
Magnum bonum  का सेवन करना
चाहिए ऐसा करने से रक्तचाप कम होता है।यह हर्ट से संबंधित बीमारियों को रोकने का
एक अच्छा तरीका है। जब रक्तचाप अधिक हो जाता है तो धमनियों पर दबाव बढ़ जाता है।
और ऐसा होने से हर्ट से जुड़ी
‌‌‌बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।इसके अलावा आलू बुखारा आपके
रक्त प्रवाह को अच्छा करता है जो खून के धक्के को जमने से रोकता है।

‌‌‌कब्ज से राहत दिलाता है


दोस्तों आजकल कब्ज होना आम बात है। यदि किसी को
कब्ज की शिकायत रहती है तो उसे आलूबुखारे का सेवन अवश्य करना चाहिए । क्योंकि इसके
अंदर फाइबर रहता है।‌‌‌जिसको कब्ज दूर करने मे सहायक माना जाता है। इसके अलावा यह
भी एक रिसर्च के अंदर सामने आया है कि सूखा आलू बुखारा
Magnum bonum  खाने से मल का त्याग करने मे आसानी
रहती है।

‌‌‌आलू बुखारा Magnum bonum  कैंसर से रक्षा करे

आलू बुखारा Magnum bonum  कैंसर से रक्षा करे


दोस्तो एक रिसर्च के अंदर यह बात सामने आई है
कि आलू बुखारा के अंदर पॉलीफेनोल्स पाये जाते हैं जो कैंसर की संभावनाओं को कम
करते हैं।‌‌‌इन सबके अलावा यह ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने का काम भी करता
है।

‌‌‌डायबिटिज मे उपयोगी


दोस्तों आलू बुखारा मीठा अवश्य ही होता है
लेकिन इसके अंदर शुगर नहीं होता है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए उपयोगी हो सकता
है।‌‌‌यदि किसी को मधुमेह की शिकायत है तो वह सूखे आलू बुखारा
Magnum bonum  का सेवन कर सकता है।

‌‌‌हडडियों को मजबूत बनाता है


यदि आप हडियों की मजूबती चाहते हैं तो आपको आलू
बुखारा
Magnum bonum  का सेवन करना
चाहिए ।रोजाना
50 ग्राम
आलू बुखारा खाने से हडियों की कमजोरी दूर हो जाती है।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने मे मददगार


दोस्तों यदि आप आलू बुखारा खाते हैं तो
कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने मे मदद मिल सकती है।जिन लोगों के अंदर कोलेस्ट्रॉल
का स्तर अधिक होने की संभावना होती है उनको आलू बुखारा खाने चाहिए ।

‌‌‌मोटापे को कम करता है

Magnum bonum


दोस्तों जो लोग अपना मोटापा कम करना चाहते हैं
उनको आलू बुखारे
Magnum bonum  का सेवन करना
चाहिए । यह बहुत अधिक उपयोगी होता है।इसके अंदर बहुत कम कैलोरी पाई जाती है और फाइबर
होता है जो वजन को कम करने मे काफी मददगार होते हैं।

‌‌‌आंखों के लिए अच्छा है


आज कल आंखों का कमजोर होना बहुत ही आम सी बात
हो गई है। जिन लोगों की आंखें कमजोर हैं या चश्मा चढ़ा हुआ है उनको आलू बुखारे
Magnum bonum  का सेवन अवश्य ही करना चाहिए । यह
आंखों की कमजोरी को दूर करता है और आंखों से चश्मे को भी हटा सकता है।‌‌‌आलू
बुखारा के अंदर विटामिन सी और विटामिन ई प्रचुर मात्रा के अंदर होते हैं जो आंखों
की सेहत के लिए बहुत अधिक उपयोगी होते हैं।

‌‌‌प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है


‌‌‌प्रतिरक्षा प्रणाली हमे रेागों से लड़ने मे
बहुत अधिक उपयोगी होती है। जिन लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली काफी कमजोर होती है
उनको अनेक रोग घेर लेते हैं।एक रिसर्च के अंदर यह बात सामने आई है कि आलू बुखारा
Magnum bonum  के सेवन करने से प्रतिरक्षा प्रणाली को
अच्छा बनाया जा सकता है। इसके अंदर विटामिन सी पाया जाता है जो उत्तकों को रिपेयर
करने का काम करते हैं।

‌‌‌दिमाग के अंदर सुधार


आलू बुखारा Magnum bonum  का सेवन आपके दिमाग को भी अच्छा बना
सकता है।इसके अंदर पॉलीफेनॉल्स कंपाउंड पाये जाते हैं जो दिमाग के लिए काफी उपयोगी
होते हैं।इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके दिमागी बीमारियों से रक्षा
करता है।‌‌‌आलू बुखारा का जूस पीने से बढ़ती उम्र के साथ जो दिमागी कार्यप्रणाली
के अंदर गिरावट आती है उसके अंदर सुधार होता है। खास कर बुढ़े लोगों को आलू बुखारा
Magnum bonum  के जूस का अवश्य ही सेवन करना चाहिए ।

‌‌‌आलू बुखारे के अधिक सेवन से समस्याएं


दोस्तों आलू बुखारे का सेवन जहां बहुत अधिक
फायदे मंद होता है। वहीं इसके नुकसान भी होते हैं।जिन लोगों को गुर्दे के अंदर
पथरी की समस्या है उनको आलू बुखारे
Magnum bonum  का
सेवन नहीं करना चाहिए ।‌‌‌इनके अलावा आलू बुखारा के अधिक सेवन करने से पेट से
जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। जैसे पाचन की समस्या और गैस का होना ।
aloo
bukhara ko english mein kya kehte hain
‌‌‌यह तो आप जान ही चुके हैं। एक बार अपने मन
से दौहराएं कि आलू बुखारा को अंग्रेजी के अंदर
Magnum bonum  के नाम से जानते हैं तो अब तक आप को
याद हो चुका होगा कि आलू बुखारा को अंग्रेजी मे क्या कहते हैं।