Ek pyaar ka
nagama ahai, maujon ki rawaani hai
Zindagi aur
kuchh bhi nahin, teri meri kahaani hai
Kuchh paakar
khona hai, kuchh khokar paana hai
Jiwan ka
matalab to, ana aur jaana hai
Do pal ke
jiwan se ek umr churaani hai
Tu dhaar hai
nadiya ki, main tera kinaara hun
Tu mera
sahaara hai, main tera sahaara hun
Ankhon men
samndar hai, ashaaon ka paani hai
Tufaan to
ana hai, a kar chale jaana hai
Baadal hai
ye kuchh pal ka, chha kar dhal jaana hai
Parachhiyaan
rah jaati, rah jaati nishaani hai

Ek pyaar ka
nagama ahai
हिंदी वर्जन

Ek pyaar ka nagama ahai हिंदी वर्जन


‌‌‌एक प्यार का नगमा है ,मौजो की रवानी है।
जिंदगी
कुछ भी नहीं तेरी मेरी कहानी है।।
‌‌‌कुछ पाकर खोना है, कुछ खोकर पाना है।
जीवन का मतलब तो , आना जाना है ।।
दो पल के जीवन से उम्र चुरानी है।।
‌‌‌तू धार है नदियां कि , मैं तेरा किनारा हूं
तू मेरा सहारा है , मैं तेरा सहारा हूं।।
आंखों मे संमदर है आशाओं का पानी है।।
‌‌‌तूफान तो आना है, आकर चले जाना है
बादल है कुछ पल का छा कर ढल जाना है।।
परछाइंया रह जाती रहजाती निशानियां हैं।।

ek pyar ka
nagma hai maujon ki rawani hai zindagi ‌‌‌
गाने का
संदेश


‌‌‌यह गाना बहुत ही अच्छा संदेश देता है। एक प्यार का नगमा है ,मौजो की रवानी है। ‌‌‌जिसका मतलब है एक प्यार का गीत है। जिसके प्रति आकर्षण है।     
                      जिंदगी कुछ भी नहीं तेरी मेरी कहानी है।।

‌‌‌यह जिंदगी और कुछ नहीं है। एक कहानी है। यह आपकी और हमारी एक कहानी है। जिस तरह से कहानी के अंदर पात्र चलते हैं।उसी तरह से जिंदगी के अंदर आप और हम उस कहानी के पात्र हैं। हम इस कहानी मे चल रहे हैं। कहानी का अंत किस तरह से होगा इसको कोई तय नहीं कर सकता है। ‌‌‌जिंदगी और कुछ नहीं है बस एक कहानी
है। जिस तरह से हम फिल्म की कहानी देखते हैं। जिसमे हमे एंड का पता नहीं होता है उसी
तरह से जिंदगी की कहानी मे भी हमे इसका अंत पता नहीं होता है।
                                                 ‌‌‌कुछ पाकर खोना है, कुछ खोकर पाना है।

‌‌‌यह शब्द वाकाई मे काफी महत्वपूर्ण हैं। जिंदगी के अंदर हम कुछ चीजों को पा लेते हैं तो कुछ खो देते हैं। जिंदगी के अंदर कुछ पाने के लिए कुछ चीजों को खोना पड़ता है तो कुछ चीजों को पाने के बाद खोना पड़ता है। दोस्तों यदि आप अपने लक्ष्य मे कामयाब होना चाहते हैं तो आपको सुख चेन खोना होगा और‌‌‌ लक्ष्य हासिल करने के बाद भी आप कुछ चीजों को
खो देते हैं।

                       
जीवन

का मतलब तो , आना जाना है ।।


‌‌‌जीवन का मतलब है बार बार यहां पर आना और मर जाना दोस्तों यदि आप हिंदु धर्म को मानते हैं तो आपको पता ही होगा कि इंसान को बार बार मरना पड़ता है। उसके कई जन्म होते हैं। यही जीवन का मतलब है। लेकिन मोक्ष मिलने के बाद ऐसा नहीं होता यह जीवन नहीं वरन जीवन का उदेश्य है।

                      दो
पल के जीवन से उम्र चुरानी है।।

‌‌‌जिंदगी सिर्फ दो पहल की होती है। पता नहीं चलता है कि समय कब बीत जाता है। और कई बार दो पल ही नहीं मिल पाते हैं। मौत का कोई भरोशा नहीं होता है। इस जिंदगी मे समय कम मिलता है। और इतने मे काफी काम करने पड़ते हैं। समय को चुरा कर एडजस्ट करना होता है। और ऐसा हम सभी करते हैं। ‌‌‌कई बार किसी दूसरे काम को छोड़कर
किसी तीसरे काम को करना पड़ता है।

‌‌‌                                          तू धार है नदियां कि , मैं तेरा किनारा हूं
                     तू
मेरा सहारा है , मैं तेरा सहारा हूं।।
तू धार है नदियां कि , मैं तेरा किनारा हूं                       तू मेरा सहारा है , मैं तेरा सहारा हूं।।

‌‌‌नदी का किनारा सबसे महत्वपूर्ण होता है। यदि किनारा ही नहीं हो
गा तो नदी कैसे होगी और इसी तरह से यदि नदी नहीं होगी तो किनारा कैसे हो सकता है। जिसका मतलब है कि यह एक दूसरे के पूरक हैं। ऐसा ही हमारी  जिंदगी के अंदर होता है।‌‌‌हम एक दूसरे के सहारा होते हैं। आप हमारे किसी
ना किसी काम आते हैं और हम आप के किसी ना किसी काम आते हैं। भले ही वो डायरेक्ट ना
सही लेकिन इनडायरेक्ट तो काम अवश्य ही आते हैं।

                        
आंखों

मे संमदर है आशाओं का पानी है।।
‌‌‌                                                      
तूफान तो आना है, आकर चले जाना है
‌‌‌हम सब की आंखों मे सपने तो बहुत सारे होते हैं और उन सपनों को पूरा करने के लिए आंखों मे आशा भी रहती है। कि हम अपने सपनों को पूरा करेंगे ।लेकिन यह तो तय है कि इन सपनों को पूरा करना आसान नहीं होता है। इनको पूरा करने के लिए मुशिबतें तो आएंगी लेकिन यदि आप इन से लड़ना जानते हो तो आपका बांल ‌‌‌भी बांका नहीं हो सकता है।

                           
बादल

है कुछ पल का छा कर ढल जाना है।।
                            परछाइंया
रह जाती रहजाती निशानियां हैं।।
badal

‌‌‌जिंदगी एक बादल की तरह ही तो है। जिस तरह से बादल आते हैं और कुछ समय बाद अपने आप ही ढल जाते हैं। ऐसा ही जिंदगी के साथ होता है। आज हम जिंदा हैं और एक समय ऐसा आएगा जब हम बादलों की तरह ढल जाएंगे ‌‌‌और जब हम लोगों का अंत हो जाता
है तो उसके बाद लोगों की आंखों मे हमारी बस एक परछाई ही रह जाती है। और हमारी कुछ निशानियां
रह जाती हैं। जो हमसे जुड़ी होती हैं और लोगों को हमारी याद दिलाती हैं।