‌‌‌क्या
आपको पता है कि
shankh ko english mein kya kehte hain यदि नहीं पता तो हम आपको बतादेंते हैं।
कि हम उसी शंख की बात कर रहे हैं जो आप बजाते हैं या कई बार आपने देखा भी होगा
।अक्सर मंदिरों के अंदर पूजा के समय शंख बजाए जाते हैं।
shankh
ko english mein CONCH
के नाम से जाना जाता है।
shankh ko english mein kya kehte hain
  • ·       
    उत्तरी अमेरिका में , एक शंख CONCH   को अक्सर रानी शंख के रूप में पहचाना
    जाता है
    , जो मैक्सिको और कैरिबियन की खाड़ी के पानी के
    लिए स्वदेशी है। रानी शंख
    CONCH
     
    समुद्री भोजन के लिए मूल्यवान हैं,
    और
    मछली के चारा के रूप में भी उपयोग किया जाता है



  • ·       
    CONCH
      
    के समूह को कभी-कभी “सच्चे शंख” के
    रूप में संदर्भित किया जाता है
    , परिवार स्ट्रोमबिडे में समुद्री
    गैस्ट्रोपॉड मोलस्क हैं
    , विशेष रूप से जीनस स्ट्रोमबस और अन्य
    निकट से संबंधित जेनरा में
  • ·       
    अंग्रेजी शब्द “शंख” को मध्य अंग्रेजी में कहा जाता है,  लैटिन शंख CONCH
      
    (शंख, मूसल ), से आता है जो बदले में ग्रीक कोन्शो
    (समान अर्थ)  से आता है।

shankh ko english mein kya kehte hain CONCH   ‌‌‌मांस


  • ‌‌‌आपको
    यह जानकर हैरानी होगी की शंख
    CONCH   काम मांस सलाद के रूप मे भी खाया जाता है।इसे फ्रिटर, सलाद और सूप रूपों में परोसा जाता
    है।जमैका में स्थानीय लोग सूप
    , स्ट्यू और करी में शंख खाते हैं।
  • ·       डोमिनिकन गणराज्य , ग्रेनेडा और हैती में , शंख CONCH   आमतौर पर करी में या मसालेदार सूप में खाया जाता है। इसे स्थानीय रूप
    से लांबी कहा जाता है
  • ·       प्यूर्टो रिको में , शंख CONCH   को एक सेवई के रूप में परोसा जाता है, जिसे अक्सर अस्सलाडा डे कार्रचो (शंख
    सलाद) कहा जाता है
  • ·       पनामा में , शंख CONCH   को कैम्बोम्बिया के रूप में जाना जाता है और अक्सर इसे कैवेइच डे
    कैम्बोम्बिया के रूप में परोसा जाता है
  • ·       
    The शंख CONCH   शब्द का अर्थ होता है, ग्रीक
    से खोल और निकलता है
    konchansk या konchos, और संस्कृत čankha,
    और
    इस तरह आमतौर पर शब्द
    शंख-शब्दएक शब्द है।
    बहुत बड़ी विविधता है
    कई अलग अलग आकार,
    और
    प्रत्येक की दुनिया भर में गोले
    बाहरी कंकाल,
    और
    एक साथ घर
    , एक जानवर का, हमारे
    उद्देश्यों के लिए एक समुद्री एक है।

‌‌‌घर मे शंख CONCH   रखने के फायदे

‌‌‌घर मे शंख CONCH   रखने के फायदे


‌‌‌दोस्तों बहुत से लोग घर के अंदर शंख रखते
हैं और वैसे भी हिंदु धर्म के अंदर घर मे शंख
CONCH   रखना बहुत अधिक शुभ माना जाता है। यदि आप एक
हिंदु हैं तो आपको पता होगा कि शंख का कितना महत्व होता है
? ‌‌‌तो आइए जान लेते हैं कि घर के अंदर शंख CONCH   रखने के क्या क्या फायदे होते हैं।

‌‌‌घर मे लक्ष्मी का वास के लिए


दोस्तों घर के अंदर शंख CONCH   इसलिए रखा जाता है क्योंकि ऐसा करने से घर के
अंदर लक्ष्मी का वास होता है। शंख
CONCH   उन 14 रत्नों मे से एक है जो समुद्र मंथन के दौरान
निकले थे ।‌‌‌इन सबके अलावा लक्ष्मी भी सागर से ही निकली थी। इस तरह से यह माना
जाता है कि घर के अंदर शंख
CONCH   रखने से धन मे बढ़ोतरी होती है और
दरीद्रता दूर होता है। क्योंकि जिस घर के अंदर लक्ष्मी का वास होता है वहां पर
दरिद्रता कैसे रह सकती है।

‌‌‌यह बहुत शुभ होता है


यदि हम अपने देवताओं की फोटो को देखें तो आपको
पता चलेगा कि माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु दोनो ही इसे अपने हाथों के अंदर धारण
करते हैं। इस वजह से इसको अत्यंत पवित्र और शुभ माना जाता है।

‌‌‌ shankh ko
english mein kya kehte hain
ईश्वर प्रसन्न होते हैं


अक्सर जो लोग शंख CONCH घर के अंदर रखते हैं वे उसकी मदद से
भगवान शिव और लक्ष्मी के उपर जल चढ़ाते हैं। जिससे भगवान प्रसन्न होते हैं और उनकी
क्रपा प्राप्त होती है।
‌‌‌इस
तरह से घर के अंदर शंख
CONCH रखने का एक फायदा यह है कि यह आपके
भगवान को प्रसन्न करने मे मदद कर सकता है। और जब आपके उपर भगवान की क्रपा बनी रहती
है तो आप सुखी जीवन जी सकते हैं।

‌‌‌ shankh ko
english mein kya kehte hain
वातावरण को शुद्व करने के लिए


दोस्तों यदि आप अपने घर के अंदर शंख CONCH का पानी छिड़कते हैं तो इसकी मदद से
आप अपने वातावरण को अच्छा कर सकते हैं। शंख के पानी मे वातावरण को शुद्व करने की
क्षमता होती है।

‌‌‌कीटाणुओं का नाश

अक्सर मंदिरों के अंदर शंख CONCH बजाए जाते हैं


अक्सर मंदिरों के अंदर शंख CONCH बजाए जाते हैं। वैज्ञानिक प्रयोगों से इस बात
के प्रमाण मिले हैं कि शंख बजाने से जीवाणुओं और कीटाणुओं का नाश होता है।
वैज्ञानिक कहते हैं कि शंख
CONCH की आवाज के अंदर वातावरण मे मौजूद जीवाणुओं को मारने की क्षमता होती
है।

‌‌‌बीमारियों को दूर करता है।


दोस्तों यदि आयुर्वेद की बात करें तो उसमे यह
कहा गया है कि शंख की भस्म का सेवन करने से पेट की बीमारियां
, पथरी, पीलिया आदि को दूर किया जा सकता है। हालांकि इसका प्रयोग किसी डॉक्टर
की सलाह पर ही किया जाना चाहिए ।

‌‌‌सांस के रोग को दूर करता है


दोस्तों आपको यह जानकर हैरानी होगी की शंख CONCH के प्रयोग से सांस के रोग से राहत मिल
सकती है। दोस्तों यदि कोई सांस का रोगी है तो उसे रोजाना शंख बजाना चाहिए । ऐसा
करने से उसकी सांस से संबंधित समस्या दूर हो सकती है।

‌‌‌सकारात्मक उर्जा का संचार


शंख को बजाने का एक फायदा यह है कि इसके
प्रयेाग से ‌‌‌सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। और यह उर्जा बहुत अधिक उपयोगी
होती है। और इससे सोई हुई भूमी को जाग्रत किया जा सकता है।

शंख में रखे पानी का सेवन करने के अन्य फायदे


‌‌‌दोस्तों कुछ वैज्ञानिक रिसर्च के अंदर यह
बात सामने आई है कि शंख
CONCH के अंदर रखा पानी पीने की वजह से
हडियां मजबूत होती हैं। और दांतों के लिए भी यह पानी काफी उपयोगी होता है।

‌‌‌आंखों के लिए फायदे मंद


दोस्तों आजकल हर इंसान को आंखों की कोई ना कोई
समस्या होती ही रहती है। यदि शंख
CONCH के अंदर भरे पानी को आंखों के उपर लगाएंगे तो फिर यह आंखों के अनेक
प्रकार के रोग को काट देगा ।

‌‌‌महाभारत के अंदर मौजूद कुछ प्रसिद्व शंख CONCH


महाभारत के कुछ पात्र भी अपने पास कुछ शंख CONCH रखते थे । आइए उनके बारे मे भी हमे
जान लेना चाहिए ।
·       
श्रीकृष्ण पाञ्चजन्य
·       
अर्जुन  देवदत्त
·       
भीम   पौण्ड्र
·       
युधिष्ठिर      अनन्तविजय
·       
नकुल  सुघोष
·       
सहदेव  मणिपुष्पक
‌‌‌नवग्रहों की शांति के लिए भी शंख उपयोगी
रत्न माना जाता है।सूर्य की प्रसन्नता के लिए सूर्योदेव के समय शंख से जल चढ़ाना
चाहिए ।
‌‌‌शंख
के अंदर कच्चा दूध भरकर भगवान शिव को सोमवार को चढ़ाने से चंद्र ग्रह प्रसन्न होते
हैं।
‌‌‌मंगलवार
के दिन सुंदरकांड का पाठ करके शंख बजाना चाहिए ।
shankh ko
english mein kya kehte hain